झूठा चेक बाउंस केस में कैसे बचाव करे 250 सीआरपीसी नोटिस का सहारा ले सकते है

by banking financial,


Posted on 25-06-2021 by Admin


झूठा चेक बाउंस केस में कैसे बचाव करे 250 सीआरपीसी नोटिस का सहारा ले सकते है

अपने पूरा loan देने के बाद भी loacl finacer कामनी ने करीब चार साल बाद cheque बैंक में लगा दिया जिस के बारे में किसी को नहीं बोला गया .बाद में cheque bounce हो गया . तो फिर शिकायतकर्ता ने उस पर झूठा मुकदमा कोर्ट में दायर कर दिया। user की और से चार से जेदा गवाह पेश किए गए।  कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद यह माना की शिकायत कर्ता ने झूठा केस डाला है। कोर्ट ने आरोपी को बरी कर शिकायतकर्ता को 250 सीआरपीसी का नोटिस जारी किया है।

झूठा चेक बाउंस केस में कैसे बचाव करे 250 सीआरपीसी नोटिस का सहारा ले सकते है क्या है 250 सीआरपीसी का नोटिस banking awareness banking gk for punjab cooperative bank IBPS exam

क्या है 250 सीआरपीसी का नोटिस और कब दिया जाता है 

हमें ने वकील ने बतया की बताया कि कोर्ट जब किसी केस में यह समझती है कि शिकायतकर्ता ने झूठा केस दायर करके आरोपी को मानसिक व आर्थिक प्रताड़ना दी है, तब कोर्ट को यह अधिकार होता है कि वह शिकायतकर्ता को 250 सीआरपीसी का नोटिस जारी करके यह पूछे कि शिकायतकर्ता के खिलाफ कार्रवाई करके आरोपी को मुआवजा क्यों न दिलाया जाए।

 

 


Enter More Update:
Related Post
19 january ka itihas 19 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ Historical Events and Holidays
टीकाकरण के बाद सावधानियां टीके पंजीकरण प्रमाण पत्र के लक्षण प्रभाव सभी सवालों के जवाब
गूगल कितनी फ्री स्टोरेज कैपेसिटी देता है मोबाइल डाटा कैसे स्टोर करे गूगल ड्राइव पर हिंदी में
एशियाई विकास बैंक ADB ne jari ki Future of Regional Cooperation in Asia and the Pacific naei book
सरकार ने SC-ST NSIGSE योजना 2021-22 का बजट घटाया माध्यमिक शिक्षा की राष्ट्रीय प्रोत्साहन योजना NSIGSE क्या है
How to take Aadhaar Card Franchise and what work can be done by taking Aadhaar Card Franchise
देश के बाहर पहला भारतीय बैंक कौन सा खोला गया and History of Banking
11 january ka itihas 11 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ Historical Events and Holidays
inspirational motivational quotes for employees business owners in hind
Blogger और यूट्यूबर्स कंटेंट क्रिएटर्स की कमाई पर कितना टैक्स देना होगा