How Sensex started, who named it Buying shares means buying and selling shares

by banking financial, current affair, small business ideas, startup news,


Posted on 06-02-2021 by Admin


How Sensex started, who named it Buying shares means buying and selling shares

सेंसेक्स शब्द की शुरुआत स्टॉक मार्केट एनालिस्ट दीपक मोहोनी ने year साल 1989 में की थी। ये दो शब्दों word से मिलकर बना है, सेंसिटिव और इंडेक्स यानी सेंसरी इंडेक्स (संवेदी सूचकांक)। भारत India में सेंसेक्स भारतीय स्टॉक मार्केट का बेंच मार्क इंडेक्स है। ये बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में लिस्टेड शेयर के भाव में होने वाले उतार-चढ़ाव को बताता है। इसकी शुरुआत 1 जनवरी 1986 को हुई थी।

सेंसेक्स कैसे made बनता है?

BSE में 5,155 कंपनियां लिस्टेड Limited हैं। इन्हीं में से 30 बड़ी कंपनियों के शेयर से सेंसेक्स बनता है। इसके कैलकुलेशन calculation के दौरान इन्हीं कंपनियों के शेयर को add शामिल किया जाता है। इन 30 बड़ी कंपनियों के शेयर सबसे ज्यादा more खरीदे और बेचे जाते हैं। ये 30 कंपनियां अलग-अलग सेक्टर से हैं और अपने सेक्टर की सबसे बड़ी मानी जाती हैं। हालांकि, सेंसेक्स में शामिल add कंपनियों में बदलाव होता रहता है।

इन कंपनियों का सिलेक्शन स्टॉक एक्सचेंज की इंडेक्स कमेटी member की तरफ से किया जाता है। इस कमेटी में कई तरह के लोगों को शामिल किया जाता है। इसमें सरकार, बैंक सेक्टर और जाने-माने इकोनॉमिस्ट भी हो सकते हैं।

 

शेयर मतलब हिस्सा. शेयर बाज़ार यानी हिस्सेदारी का बाजार market. जो लिस्टेड कंपनियां होती हैं, उनकी संपत्ति और मालिकाना हक़ शेयरों में बंटा रहता है. आपके पास शेयर है, आपका भी हिस्सा हुआ. ये शेयर बेचने और ख़रीदने buy का काम होता है शेयर मार्केट में. इस बाज़ार market का हिस्सेदार बनने के लिए स्टॉक एक्सचेंज (यानी NSE और BSE) और SEBI के पास रजिस्ट्रेशन कराना पड़ता है. SEBI यानी सिक्यॉरिटी ऐंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया. SEBI को समझिए शेयर बाजार का रेफरी. ये चौकीदार भी है, निरीक्षक भी है.

शेयर खरीदने का मतलब?

आपने किसी कंपनी का शेयर खरीदा buy. मतलब, mean आप उस कंपनी के हिस्सेदार हैं. उसके time घाटे-मुनाफ़े में हिस्सा है आपका. आपको कितना हिस्सा मिलेगा, ये इस बात से तय होता है कि आपने कितनी हिस्सेदारी ख़रीदी है.

शेयर ख़रीदने-बेचने buy-sell का काम कौन करता है?

ज़्यादातर ये काम करते हैं दलाल. जिनको अंग्रेज़ी में कहते हैं ब्रोकर्स. दलाल शब्द word बड़े ग़लत मायनों में प्रचलित है. मगर शेयर बाज़ार के जिन दलालों की हम बात कर रहे हैं, ये कंपनी और आपके बीच under की एक अहम कड़ी हैं. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के सामने वाली सड़क है न. उसका नाम ही है दलाल स्ट्रीट.

 


Enter More Update:
Related Post
Avni company कैसे बनी लाखों की company जाने Co-Founder and CEO Sujata Pawar से
ड्रैगन फ्रूट dragon fruit plant की खेती कैसे की जाती है जानिए फायदे ड्रैगन फ्रूट की कीमत ड्रैगन फ्रूट के पौधे कहां मिलेंगे
निफ्टी क्या है सेंसेक्स और Nifty में क्या अंतर है full form Nifty
18 january ka itihas 18 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ Historical Events and Holidays
एक्वापोनिक्स बनाम हाइड्रोपोनिक्स बनाम एरोपोनिक्स Farming kon si best hai
MSME ke liya SIDBI ke sath bhartiya bank ka समझौता हुआ
ट्रेडिशनल फूड रेसिपी बिजनेस करे हर महीने की कमाई 5 लाख रुपए स्टार्टअप आइडिया
20 तरीके से अपनी प्रेजेंटेशन स्किल में सुधार कर सकते है
kaun hain kamala harris, kaise banee अमेरिकी उप-राष्ट्रपति bhaarat se kya hai sambandh jaanie 30 mukhy baaten
प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना PMJJBY और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना PMSBY जीवन बीमा स्कीम का कैसे लाभ ले सकते है